तेरे बिना में ये दुनिया छोड तो दूं ,
पर उसका दिल कैसे दुखा दुं ,
जो रोज दरवाजे पर खडी केहती हे ;
   “बेटा घर जल्दी आ जाना “