उतरे जो जिंदगी तेरी गहराईयो मे हम….
महफिल में रह के रहे तनहाईयो में हम…!.
ये दीवानगी नही तो क्या है…
इंसान ढुंडते रहे परछाईयो मे हम…!!