लगता है माँ-बाप ने बचपन में खिलौने
नही दिलाये होंगे……
.
.
तभी तो बड़ी होके पगली हमारे दिल
से खेल गयी……!!