यही तो मज़बूरी है यारों,
पत्तों में जेक और लाइफ में ब्रेक लगती है ..
तब ना इक्का काम आता है ना सिक्का…!!