इतना उदास साम का मंजर कभी न था ,
सूरज के साथ डूब गया मेरा दिल भी आज ।