कौन कहता है कि मिट जाती है मोहब्बत दुरी से,
मिलने वाले तो अक्सर खयालोँ मेँ भी मिला करतेँ हे ।