Tags


वो अच्छे हे तो बेहतर , बुरे हे तो भी कबूल ,
मिजाज़-ए-इश्क मैं ऐब-ओ-हुनर देखे नही जाते !!
#farazShayari