यहाँ सब वक़्त गुज़ार कर चले गए अपना
मेरे साथ…
और जब मेरी बारी आई तो मसरूफ हो गए
गैरों में..!!