एक कब्र पर लिखा था…
“किस को क्या इलज़ाम दूं दोस्तो…,
जिन्दगी में सताने वाले भी अपने थे,
और दफनाने वाले भी अपने थे…!!