कोन कम्बक्त बर्दास्त करने को पित्ता हे ,
हम तो पीते हे की यहा पर बैठ सके ,
तुम्हे देख सके ,
तुम्हे बर्दास्त कर सके ।