सिर्फ तेरे इश्क की गुलामी में हु आज भी ,
वरना ये दिल एक अरसे तक नवाब रहा हे !