अब तो उदासियो मेँ जिने की आदत बन गयी है !!!
हो गये गैर वो लौग जो कभी अपने हुआ करते थे !!