अपने वजूद पर इतना न इतरा …
ए ज़िन्दगी ,,
वो तो मौत है जो तुझे मोहलत
देती जा रही है ।।