इन बादलों का मिजाज मेरे महबूब से बहुत मिलता है।
कभी टूट के बरसते हैं कभी बेरुखी से गुज़र जाते हैं। …

ApunKaStatus.tk