मुझे इतनी फुर्सत कहा की में तकदीर का लिखा देखु ,
बस मेरे अपनों की मुस्कुराहत देख के समज जाता हु की मेरी तकदीर बुलंद हे ।