गलती से प्यार कर बेठे हम नादान थे ,
उसकी आदत उसकी फितरत से अनजान थे ;
वक्त ने हमको खिलोना बना दिया ,
वरना हम भी कभी महफिलो की जान थे ।