हम भी अक़्सर इन फूलो कि तरह तन्हा रहते हैँ.. कभी ख़ुद टूट जाते है, कभी लोग हमे तोड़ जाते है..
Status4whatsapp