हमारी तडप तो कुछ भी नहीं है हुजुर.. सुना है कि आपके दिदार के लिए तो आइना भी तरसता है…