हथियार तो सिर्फ शौक के लिए रखा करते है, वरना किसी के मन में खौंफ पेदा करने के लिए तो बस नाम ही काफी हे.