लिखी खुदा ने मुहब्बत सबकी तकदीर में हमारी बारी आई तो स्याही खत्म हो गई