रिश्वत भी नहीं लेती कम्बख्त जान छोड़ने की….!
ये तेरी याद मुझे बहुत ईमानदार लगती है….!!