मुहब्बत आजमानी है,तो बस इतना ही काफी है जरा सा रूठ कर देखो, मनाने कोन आता हे !