प्यास अगर मेरी बुझा दे तो मैं मानू….. वरना… तू समन्दर है, तो होगा, मेरे किस काम का ??