पहले हाथ से लिखा प्रेम पत्र देते थे,
अब टचस्क्रीन फ़ोन पर टाइप करके भेज देते हैं….. इश्क़ में ये दुनिया फिर से अँगूठा-छाप हो गयी”