तुम तो मेरे करीब से निकले थे फिर भी कहते हो देखा ही नहीं…… कभी मुझे देखने की चाहत में इंतजार दिन-रात किया करते थे…