छोड दी हमने हमेशा के लिए उसकी आरजू करना…
जिसे मोहब्बत की कद्र ना हो उसे दुआओ मे क्या मांगना…