क्या बात करे यार ईस दुनीया की..
जो सामने है ऊसे बुरा केहते है,
और जीसे कभी देखा नही ऊसे “खुदा“ केहते है..