ऐ चांद चला जा क्यो आया है मेरी चौखट पर….. छोड गये वो शख्स जिसकी याद मे हम तुझे देखा करते थे …